ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
झारखंड में रैयतों को पूरा मुआवजा देने की मांग
July 25, 2019 • Purushottam Sharma

झारखंड में रैयतों को पूरा मुआवजा देने की मांग

6 जून 2019 बगोदर - अखिल भारतीय किसान महासभा ने बगोदर में जीटी रोड 6 लेन चौड़ीकरण से प्रभावित किसानों को पूरा मुआवजा भुगतान करने की मांग की है. किसान महासभा के राष्ट्रीय सचिव कामरेड पूरन महतो ने आरोप लगाया कि निबंधन कार्यालय जिस अधिग्रहित जमीन का आवासीय टैक्स वसूल रहा है, भू अर्जन विभाग उसे कृषि भूमि दर्शा कर मुआवजा बाँट रहा है. उन्होंने इसे भूमि अधिग्रहण कानून 2013 का खुला उलंघन बताते कहा कि जीटी रोड 4 लेन निर्माण के समय इसी जमीन का बंदोबस्त से हासिल गैर मजरूआ जमीन के भाव से मुआवजा बांटा गया था. अब उस पर रोक और उसी जमीन को कृषि भूमि बताना लोगों का खुला शोषण है.

उन्होंने मांग की कि बगोदर के औरा बाजार में प्रभावितों को व्यावसायिक रेट से भुगतान हो और जिन मकानों या दुकानों का अधिग्रहण के बाद कोई उपयोग नहीं बचा है उन्हें पूरा मुआवजा दिया जाय. किसान महासभा ने उन सभी लोगों को प्रमाण पत्र जारी करने की मांड की है जिनकी जमीनें इस अधिग्रहण में जा रही हैं. ताकि भविष्य में उन्हें मूल निवास प्रमाणपत्र बनाने में कोई दिक्कत न हो. उपरोक्त सभी मांगों से सम्बंधित एक ज्ञापन उपायुक्त के नाम बगोदर सीओ के माध्यम से भेजा है. ज्ञापन देने वालों में कामरेड पूरन महतो के अलावा भाकपा (माले) प्रखंड सचिव पवन कुमार महतो, प्रदीप महतो,बासुदेव सिंह, बालेश्वर यादव भी थे.