ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
यूपी के हरदोई में किसान सम्मेलन
October 3, 2019 • Purushottam Sharma

यूपी के हरदोई में किसान सम्मेलन

अफरोज आलम

आज हरदोई के मल्लावां में किसान- मजदूर एका सम्मेलन आयोजित हुआ अखिल भारतीय किसान महासभा के राज्य सचिव का. ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा इस सम्मेलन के मुख्य वक्ता थे। उन्होंने कहा भाजपा की योगी- मोदी सरकार नें देश की जनता का पेट भरने वाले किसानों व कल- कारखानें चलाने वालें मजदूरों दोनों को जीना मुश्किल कर दिया है। रोज ही मंदी के भेंट चढ़ कारखानें के बंद होनें की खबर आ जाती है और उसके साथ उसमें काम करने वाले मजदूरों को काम से निकाला जा रहा है। मोदी कहे थे रोजगार देंगे लेकिन यह सरकार सबसे ज्यादा बेरोजगारी लाने वाली सरकार बन गई है।

किसान कर्ज माफी के लिए लड़ रहे हैं, मगर कर्ज माफी नहीं हो रही। दूसरी तरफ करों में छूट पर छूट पूजीपतियों को मिलती जा की है,  खाद- बीज - बिजली- डीजल के दाम रोज ही बढ़ रहें हैं, आवारा पशु किसानों की फसलें बर्बाद कर रहें है। योगी कह  रहे हैं गाय अब सुरक्षित है, जब कि गाय की दुर्दशा बढ़ गई है। योगी सरकार की गौशालयें गायों की कब्रगाह बन गई हैं। किसान और किसानी गहरे संकट में है। 

उन्होंनें कहा सपा- बसपा काग्रेस के बजाय अब किसानों को ही योगी-मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष की भूमिका निभानी होगी।
सम्मेलन को किसान महासभा के राज्य सह सचिव कामरेड अफरोज आलम, नत्थूलाल, जगदीश सिह, आर बी त्रिवेदी, रामराज, राकेश कुमार, आदि ने सम्बोधित किया। संचालन किसान महासभा के जिला संयोजक ओमप्रकाश पटेल ने और अध्यक्षता वारिष्ठ वामपंथी नेता का विभूति प्रसाद ने किया।

सभी साथियों ने मदारी पासी व बाबा राम चन्दर दास की विरासत को आगे बढाते हुए अवध में विशाल किसान आन्दोलन खड़ा करने का संकल्प लिया। सम्मेलन में मल्लावां, माधवगंज, बिलग्राम ब्लाक के 70 से ज्यादा किसानों ने भाग लिया। उसमें 2 नवम्बर को माधवगंज में किसानों की बैठक करने और 21 नवम्बर को किसानों की समस्यों पर मल्लावां ब्लाक कार्यालय पर प्रर्दशन करने का निर्णय लिया गया।