ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
80 से अधिक छात्र संगठनों और यूनियनों ने लॉन्च किया ‘यंग इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR’ मंच
December 25, 2019 • Delhi • रिपोर्ट

साझा संघर्ष के तहत 80 से अधिक छात्र संगठनों और यूनियनों ने लॉन्च किया 'यंग इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR' मंच

by सुशील मानव
मोदी सरकार ने ख़तरनाक और विभाजक, सांप्रदायिक और असंवैधानिक 'नागरिकता संशोधन अधिनियम-2019' को पार्लियामेंट के रास्ते पास करवा लिया। फिर पूरे देश में एनआरसी कराने का प्रस्ताव किया। पूरे देश में लोग इस विभाजक सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं और पूरी बहादुरी के साथ सरकारी दमन का सामना कर रहे हैं।

देश के छात्रों-युवाओं ने अगली कतार से इस विरोध करते हुए देश को आगाह किया कि एनआरसी-सीएए हमारे देश के संविधान में प्रतिष्ठापित लोकतांत्रिक और समावेशी के लिए खतरा है। गुवाहाटी, कॉटन कॉलेज और डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी के जनसमूह को लामबंद करने से लेकर बंगाल, बिहार, दिल्ली, हैदराबाद, केरल, और उत्तर प्रदेश के व्यापक विरोध प्रदर्शन करने तक देश का अधिकांश हिस्सा हमारे संविधान की रक्षा में खड़ा हुआ है।

जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों को पुलिस के बर्बर दमन से गुज़रना पड़ा। भाजपा शासित राज्यों विशेषकर यूपी और असम विरोध करने वालों का दमन और गिरफ्तारी लगातार बढ़ती गई है।

असंवैधानिक सीएए-एनआरसी-एनपीआर के खिलाफ़ छात्रों के संघर्ष को अधिक प्रभावी और व्यापक बनाने के लिए देश भर के 80 से अधिक छात्र, संगठनों ने YINCC के बैनर तले 'नेशनल यंग इंडिया को-आर्डिनेशन एंड कंपेन' के तहत 'यूंथ इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR' के नाम से एक साझा संघर्ष मंच लांच किया।

इस साझा मंच को दिल्ली के प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में 24 दिसंबर को प्रेस कान्फ्रेंस करके औपचारिक रूप से लांच किया गया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष एन साई बालाजी ने बताया कि देश के विभिन्न यूनिवर्सिटी के कई छात्र संगठन लगातार इस सरकार के खिलाफ़ संघर्ष कर रहे हैं। ऐसे में हम लोगों को आंदोलनरत छात्रों/ संगठनों/ यूनियनों के बीच राष्ट्रीय स्तर पर एक समन्वय विकसित करने और इसके क्षेत्र और प्रभाव को बढ़ाने की बहुत ज़रूरत महसूस हो रही थी।

अतः 50 से अधिक छात्र और युवा संगठन जिसमें छात्र यूनियन, सरकारी और निजी यूनिवर्सिटी के आईआईटी संस्थान के स्टूडेंट-यूथ मूवमेंट, राज्य विश्वविद्यालय, नागरिक समाज, और दूसरे लोग भारतीय संविधान को बचाने के लिए एकजुट होकर एक साथ आए हैं। इसी संदर्भ में आज हम यहाँ ये प्रेस कान्फ्रेंस करके बताना चाहते हैं कि हम हर मुमकिन तरीके से सीएए-एनआरसी-एनपीआर के खिलाफ़ संयुक्त अभियान के लिए छात्र-युवा नेतृत्व  मिलकर 'यूथ इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR' नामक एक मंच लांच कर रहे है।

हमारा स्पष्ट मानना है कि 'सीएए' न सिर्फ़ मुस्लिम विरोधी है बल्कि सांप्रदायिक और बाँटने वाला भी है। जबकि अखिल भारतीय एनआरसी मुस्लिमों और भारत के गरीबों और वंचितों समेत करोड़ों लोगों को नागरिकता से बेदख़ल करके उनके नागरिक अधिकारों को छीन लेगी। यह हर समुदाय के गरीब और हाशिए के लोगों को अधिकारविहीन करके उन्हें असुरक्षा के रसातल में फेंक देगी। और एनआरसी के पहले कदम के तौर पर केंद्रीय सरकार राष्ट्रीय पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) ला रही है। एनपीआर कोई सामान्य जनगणना भर नहीं है, ये नागरिकों को 'डाउटफुल' या 'अवैध नागरिक' घोषित करने की ओर बढ़ा पहला कदम है।

'यंग इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR' में शामिल 80 से अधिक संगठन/ यूनियन और छात्र
इस साझा मंच में एम्स स्टूडेंट यूनियन, एआईएसएफ, आइसा, ऑल आदिवासी असम स्टूडेंट यूनियन, ऑल इंडिया अंबेडकर महासभा, ऑल इंडिया रेलवे अप्रेंटिस एसोसिएशन, एएमयू वूमेन्स कॉलेज स्टूडेंट, एएमयूएसयू, अनहद गुजरात, अशोक यूनिवर्सिटी स्टूडेंट गवर्नमेंट दिल्ली, भानू स्टूडेंट यूनियन, भारतीय दलित महिला आंदोलन, भारतीय मनरेगा मजदूर यूनियन, भीम आर्मी स्टूडेंट फेडरेशन, भील प्रदेश विद्यार्थी मोर्चा राजस्थान, सीआरजेडी बिहार, डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन पंजाब, डिब्रूगढ़ स्टूडेंट्स यूनियन, डीएमके स्टूडेंट विंग, डीएसएफ, फातिमा शेख स्टडी सर्कल, एफटीआईआई स्टूडेंट यूनियन पुणे, ग्लोबल यंग ग्रीन, गोंडवाना स्टूडेंट्स यूनियन, गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी स्टूडेंट द्वारका, आईआईएमसी स्टूडेंट फी-हाइक मूवमेंट, आईआईटी बांबे जस्टिस ग्रुप, आईआईटी गांधी नगर स्टूडेंट्स, जामिया गर्ल्स स्टूडेंट्स, जामिया मिलिया इस्लामिया स्टूडेंट्स ज्वाइंट एक्शन कमेटी, झारखंड उलगुलान मंच, जेएनयूएसयू, कन्नन गोपीनाथन (रिटायर्ड आईएएस ऑफीसर), क्रांतिवीर भगत सिंह ब्रिगेड अहमदानगर, लॉ स्टूडेंट नेटवर्क (फोरम ऑफ ऑल एनएलयूएस), लोकायत पुणे, माध्यमिक प्रतियोगी मंच, महाराष्ट्र लॉ स्टूडेंट्स एसोसिएशन, महाराष्ट्र स्टूडेंट्स यूनियन, एनएसीडीओआर, एनएपीएम, निरमा यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स गुजरात, एनएसयूआई, पटना स्टूडेंट यूनियन – कल्चरल सेक्रेटरी, प्रोग्रेसिव डॉक्टर्स एसोसिएशन, पीआरएसयू, पीयूएसए स्टूडेंट्स यूनियन, राजीव गांधी स्टूडेंट्स यूनियन प्रेसीडेंट अरुणाचल प्रदेश, राजीव गांधी यूनिवर्सिटी रिसर्च स्कॉलर्स फोरम अरुणाचल प्रदेश, आरवाईए, समाजवादी युवाजन सभा, सशीकांत सेंथिल (रिजाइंड आईएएस ऑफिसर), स्त्री मुक्ति संग्राम समिति, स्टूडेंट फॉर चेंज बीएचयू आईआईटी, स्टूडेंट्स कलेक्टिव आईआईटी दिल्ली, स्टूडेंट्स काउंसिल ऑफ जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल दिल्ली, स्वराज फॉर इंडिया, तेजपुर यूनिवर्सिटी स्टूडेंट काउंसिल, द ग्रेट भीम आर्मी, टीआईएसएस मुंबई स्टूडेंट यूनियन प्रेसीडेंट, यूपी एग्रीकल्चरल स्टूडेंट एक्शन कमेटी-सौरभ, युवक क्रांति दल महाराष्ट्र, एसएफआई।