ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
9 अगस्त की तैयारी के लिए झारखंड में एआइकेएससीसी की बैठक
July 31, 2020 • Delhi • रिपोर्ट

बहुराष्ट्रीय कंपनियां भारत छोड़ो, ( केंद्र की मोदी सरकार के विरोध में अगस्त क्रांति के अवसर पर 9 अगस्त को हल्ला बोल)

आज बृहस्पतिवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी कार्यालय मंजूर भवन झंडा चौक रामगढ़ में किसान समन्वय संघर्ष समिति झारखंड राज्य परिषद की बैठक अखिल भारतीय किसान महासभा के सचिव पूरन महतो की अध्यक्षता में हुई।

बैठक में मुख्य रूप से अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव सह किसान समन्वय संघर्ष समिति झारखंड के संयोजक महेन्द्र पाठक, झारखंड राज्य किसान सभा के सुफल महतो, सुजीत सिन्हा ,अखिल भारतीय किसान महासभा के अधयक्ष हिरा गोप ,अखिल भारतीय किसान सभा के मँगल ओहदार, किसान संग्राम समिति के अधयक्ष राजेन्द्र गोप, शाहिद अंसारी ,ए आई वाई एफ के सचिव विष्णु कुमार, सहित कई लोग मौजूद थे।

सर्वप्रथम लॉकडाउन के दौरान भूख से , आर्थिक तंगी से जो किसान मजदूरों की मौत हुई है, दिवंगत लोगों की आत्मा की शांति के लिए 1 मिनट का मौन रखकर शोक संवेदना व्यक्त की गई। साथ ही अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय महासचिव सह किसान संघर्ष समिति के राष्ट्रीय नेता अतुल कुमार अंजान जो गंभीर बीमारी से ग्रस्त थे, उन्हें कोरोना पॉजिटिव हो चुका हैं उन्हें जल्द स्वस्थ होने की कामना झारखंड किसान संघर्ष समिति की इकाई ने किया।

बैठक में गत आंदोलन की समीक्षा की गई, साथ ही 9 अगस्त के पूरे प्रकरण एवं केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों के बारे में लोगों को संबोधित करते हुए महेन्द्र पाठक ने किसानों के आंदोलन को तीखा आंदोलन में तब्दील करने की अपील लोगों को किया ।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से केन्द्र कि मोदी सरकार लॉकडाउन के बहाने इसको क़रोना कोविड-19 महामारी के समय किसानों की जमीन हड़प रही है । किसान विरोधी अध्यादेशो को लागू कर रही है । बहुराष्ट्रीय कंपनियों को कौड़ी के भाव में किसानों की खेत खलिहान को बेच रही है । देश के सार्वजनिक क्षेत्रों को निजी करण की जा रही है, इसका गुस्साआम जनता ने 9 अगस्त को जिस तरह से 1942 में अंग्रेजों भारत छोड़ो के नारे लगाए गए थे, इस बार बहुराष्ट्रीय कंपनियां भारत छोड़ो के नारे से पूरे देश गूंजेगा।

बैठक को किसान समन्वय संघर्ष समिति के राष्ट्रीय नेता राजाराम सिंह ने वीडियो कॉलिंग के माध्यम से बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय परिषद की फैसले को गांव-गांव तक ले जाने को कहा। सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सभी जिलों के प्रभारी, प्रमंडलीय प्रभारी 9 अगस्त को अगस्त क्रांति के अवसर पर किसान विरोधी नीतियों के विरोध में जन जन तक आंदोलन को पहुंचाने के लिए कार्य करेंगे।

इसी के साथ किसान सम्मान में संघर्ष समिति के प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री ,मुख्य सचिव एवं कृषि मँत्री से मिलकर किसानों के मांग को रखेंगे और सभी प्रखंडों एवं जिला केंद्रों में 9 अगस्त को कार्यक्रम आयोजित की जाएगी। बैठक फिजिकल डिस्टेंशन को पालन करते हुए रखी गई ।

बैठक में मेवालाल प्रसाद, जीवलाल महतो, मनोज महतो, नेमन यादव, राजेन्द्र गोप ,हिरा गोप, प्रयाग महतो, कयुम मलिक , हीरालाल महतो, घनश्याम पाठक , शाहिद अंसारी ,मनोज महतो सहित कई लोग मौजूद थे । महेंद्र पाठक, महासचिव अखिल भारतीय किसान सभा झारखंड।