ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
चीन, उत्तर कोरिया ने बनाए अस्पताल, भारत में मशीनगन और नए संसद भवन के लिए बजट
April 8, 2020 • Delhi • लेख

चीन, उत्तर कोरिया ने बनाए अस्पताल, भारत में मशीनगन और नए संसद भवन के लिए बजट 

पुरुषोत्तम शर्मा

विश्व व्यापी कोरोना संकट के बीच चीन, उत्तर कोरिया ने नए अस्पतालों का निर्माण कर अपनी जनता को इस संकट से बचाने की तैयारी की। हमारे देश भारत की मोदी सरकर ने इसके विपरीत इसी बीच इजराइल से मशीनगन खरीद और नए संसद भवन का बजट जारी किया है। जबकि हमारे ज्यादातर डॉक्टर्स, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी और सुरक्षा कर्मी अपनी जान जोखिम में डाले पीपीई किट, मास्क और ग्लब्स के बगैर ही अग्रिम मोर्चे पर आज भी काम कर रहे हैं।

उत्तर कोरिया की एग्रीकचर वर्कर्स यूनियन ने उत्तर कोरिया की स्वास्थ्य प्रणाली पर कुछ जानकारियां साझा की हैं। जानकारी के लिए बता दूं कि उत्तर कोरिया में जमीन का पूरी तरह राष्ट्रीयकरण है और कोई किसान श्रेणी नहीं है। गांव की पूरी बालिग आबादी एग्रीकल्चर वर्कर्स कोआपरेटिव में संगठित है। हर गांव की जमीन उस कोआपरेटिव के हवाले है जिस पर वे उत्पादन करते हैं। उन्नत खेती के लिए हर कोआपरेटिव को एक वैज्ञानिक और एक इंजीनियर सरकार की तरफ से दिया जाता है। कोआपरेटिव के उत्पादन को सरकार खरीद लेती है और उससे हुई आय कोआपरेटिव के सदस्यों में वितरित होती है। देश भर के गांवों में बनी ऐसी ही कोआपरेटिवों को मिला कर उत्तर कोरिया एग्रीकल्चर यूनियन का गठन किया गया है जो राष्ट्रीय स्तर पर इनकी अगुआई करता है।

विश्व व्यापी कोरोना संकट के बीच पिछले 17 मार्च को उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में नए जनरल अस्पताल के निर्माण के लिए एक समारोह हुआ। उत्तर कोरिया की एग्रीकल्चर वर्कर्स यूनियन ने बताया कि उत्तर कोरिया में हमारे सभी कृषि श्रमिकों सहित आम लोग पूरी तरह से मुफ्त सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली का लाभ उठा रहे हैं। उत्तर कोरिया में जनरल अस्पताल के निर्माण को राज्य का एक महत्वपूर्ण मामला माना जाता है और पूरे ऊर्जावान तरीके से आगे बढ़ाया जाता है। पूर्व राष्ट्रपति किम इल द्वारा सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को सही मायने में लोगों की सेवा करने के लिए स्थापित किया गया था। कोरियाई क्रांति के बाद देश की स्वास्थ्य स्थिति दयनीय थी और जापानी साम्राज्यवाद द्वारा औपनिवेशिक शासन के परिणामों के कारण बहुत कम स्वास्थ्य कार्यकर्ता थे।

पूर्व राष्ट्रपति किम इल ने सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली का लोकतांत्रिकरण करते हुए और लोकप्रिय सार्वजनिक स्वास्थ्य नीति को लागू करते हुए स्वास्थ्य क्षेत्र में औपनिवेशिक शासन के अवशेषों को मिटाने के लिए दिशा निर्देशों को सामने रखा। उसके बाद राज्य के अस्पतालों में मरीजों की वृद्धि हुई है और गरीब लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य देखभाल प्रदान की गई। उत्तर कोरिया ने संंक्रामक रोगों से फैलने वाली महामारी को रोकने के लिए एक सर्व जन स्वास्थ्य प्रणाली का ढांचा खड़ा किया। राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण निवारक संस्थाएं स्थापित की गई और नए महामारी विरोधी नियमों की घोषणा की गई। 1948 में शुरू की गई जिला चिकित्सा देखभाल प्रणाली एक निवारक और लोकतांत्रिक चिकित्सा देखभाल प्रणाली थी और लोगों के स्वास्थ्य की पूरी सुरक्षा सुनिश्चित करती थी।

उत्तर कोरिया में चिकित्सा देखभाल को युद्ध के समय और महामारी को ध्यान में रखते हुए मजबूत किया गया था, क्योंकि महामारी फैलने और दुश्मनों के जैविक हथियारों और उनके बर्बर ज्ञान द्वारा किए गए बर्बरतापूर्ण हमलों का मुकाबला करने के लिए इसे सक्रिय जन भागीदारी के साथ जोड़ा गया। युद्ध के बाद, उन्होंने डॉक्टरों को उत्साहित किया कि वे युद्ध के बाद चिकित्सा विज्ञान अनुसंधान को आगे बढ़ाएँ ताकि लोगों के स्वास्थ्य पर अच्छा असर पड़े। उन्होंने क्षतिग्रस्त स्वास्थ्य सुविधाओं के पुनर्निर्माण के लिए निवेश बढ़ाया और कारखानों, उद्यमों और ग्रामीण समुदायों में अस्पतालों और क्लीनिकों को खोलने के लिए काम को आगे बढ़ाया।

1960 के दशक के अंत में आया राष्ट्रीय चिकित्सा देखभाल नेटवर्क एक सुव्यवस्थित तरीके से पूरा हुआ, जिससे स्वास्थ्य व स्वच्छता के क्षेत्र में राज्य की जिम्मेदारी, सुरक्षा और प्रबंधन करना सुनिश्चित हुआ। उस समय, ग्रामीण समुदायों में स्वास्थ्य और स्वच्छता की स्थिति में सुधार करने का काम जोर-शोर से किया गया था, ताकि हर छेत्र में क्लीनिक हों और ग्रामीण समुदायों में अच्छी तरह से स्वच्छता सुविधाएं उपलब्ध हों। बाद में, ग्रामीण निवासियों के लिए चिकित्सा देखभाल में बहुत सुधार हुआ, और ग्रामीण समुदायों में सभी प्रकार के लोगों को अस्पताल की सुविधा दी गई। इन अस्पतालों में जरूरत के हिसाब से स्वास्थ्य कर्मचारियों को तैनात किया गया।

 उत्तर कोरिया में सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली लगातार मजबूत हुई और आज एक बेहतर सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली है जो मानवता की सेवा पर केंद्रित है। यह दृढ़ता से लोगों के अधिकारों को सुनिश्चित करती है। व्यापक मुफ्त चिकित्सा देखभाल प्रणाली के साथ चिकित्सा सेवा, चिकित्सा निवारण देखभाल नीति के आधार पर समय-समय पर नई बीमारी को रोकना इस नीति का लक्ष्य है। इसके तहत कोरियाई स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों की अत्यधिक देखभाल प्रदान करने की कोशिश जारी है