ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
दरभंगा में नाबालिग लड़की की जघन्य हत्या के खिलाफ 8 जुलाई को विरोध दिवस
July 4, 2020 • Delhi • विज्ञप्ति

नाबालिग लड़की की जघन्य हत्या फिर महिलाओं पर लाठी चार्ज

अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एशोसिएशन (ऐपवा) ने बिहार की नीतीश सरकार से

दरभंगा के पतोर गांव में इंसाफ दिलाने को प्रतिरोध करने वाले ग्रामीणों पर दर्ज मुकदमा वापस लेने की मांग की है। पतोर सहित राज्य में महिलाओं पर अत्याचार के अन्य कांड को लेकर 8 जुलाई को ऐपवा प्रदेश व्यापी विरोध दिवस मनाएगी।

दरभंगा जिला के हायाघाट प्रखंड के पतोर गांव में ज्योति कुमारी की जघन्य हत्या कांड की जांच करने 3 जुलाई को ऐपवा की जिला स्तरीय टीम पतोर गांव गई थी। टीम में ऐपवा जिला सचिव शनिचरी देवी, ऐपवा जिला अध्यक्ष साधना शर्मा, ऐपवा नेता रानी सिंह, जेएनयू छात्रा अलका सिंह, अनुराग सिंह, माले नेता अशोक पासवान,हरि पासवान शामिल थे।

आज मिर्जा पुर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए जांच टीम की ओर से ऐपवा जिला सचिव शनिचरी देवी ने कहा कि नीतीश-मोदी के राज में बेटियां अब सुरक्षित नही हैं। थाना के कुछ ही किलो मीटर पर यह जघन्य घटना हुआ और आरोपी पुलिस के चंगुल से फरार हो गया। कही न कही इस पूरे घटना में स्थानीय थाना की मिलीभगत है।

आगे ऐपवा नेत्री ने कहा कि एक तो ज्योति की हत्या होती है। और जब पोस्टमार्टम के बाद परिवार वाले लाश की मांग करते है तब उन पर लाठियां बरसाई जाती हैं। औऱ लाश को परिवार को सौपने के बजाय पुलिस वाले ही जला देते है।

इस पूरी घटना की ऐपवा घोर भर्त्सना और निंदा करती हैं तथा इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग करती है। वही उन्होंने कहा कि जब आक्रोशित लोग हत्या करने वाले कि गिरफ्तारी की मांग करते है तब प्रशासन के द्वारा सभी लोगो पर झूठा मुकदमा कर देती है।

ऐपवा नेत्री ने जिला प्रशासन से आंदोलनकारी पर से झूठा मुकदमा वापस लेने की मांग की है। साथ ही साथ पतोर घटना सहित अन्य घटना को लेकर ऐपवा पूरे जिले में 8 को विरोध दिवस मनाएगी।

वही ऐपवा जिला अध्यक्ष साधना शर्मा ने कहा कि आये दिन महिलाओ पर लगातार हमला बढ़ा है। पिछले दिनों गंगा देवी की मौत गलत खून चढ़ाने से हो गई थी। इसकी पूरी जांच भी हुई और डॉक्टर व कर्मी दोषी भी पाये गए लेकिन डबल इंजन की सरकार बड़ी मछली पर करवाई करने के बजाय छोटी मछली पर करवाई कर पूरे मामले को लीपापोती करने के लगी हुई हैं।

अभी तक गंगा के देवी के परिजन को न्याय नही मिला है। गंगा देवी की न्याय को लेकर ऐपवा आंदोलन तेज करेगी। इस मौके पर ऐपवा नेता रानी सिंह ने कहा कि नीतीश-मोदी सरकार अपराधियो, बलात्कारियो, बेटी को बचाने के बदले बेटी को मारने वाले को संरक्षण दे रही है। इसके खिलाफ ऐपवा अभियान को तेज किया जाएगा।

संवाददाता सम्मेलन में ऐपवा नेत्री राशिदा खातून,रीता देवी,आइसा नेत्री ओणम सिंह आदि उपस्थित थी।