ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर किसान महासभा के कार्यक्रम
June 6, 2020 • Delhi • रिपोर्ट

मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर किसान महासभा के कार्यक्रम

मंदसौर के आन्दोलनरत शहीद किसानों की 3सरी बरसी पर उनके सम्मान में आज 6जून को पटना जिला के नौबतपुर कार्यालय पर पुष्प सुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। इसमें किसान महासभा के जिला सचिव कृपा नारायण सिंह,प्रखंड अध्यक्ष मधेश्वर शर्मा, गनौरी पंडित व पार्टी प्रखंड सचिव देवेन्द्र वर्मा शामिल रहे। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में भी किसान महासभा के नेता कामरेड विनोद सिंह के नेतृत्व में श्रद्धांजलि और मांग दिवस कार्यक्रम किया गया।

मंदसौर के आन्दोलनरत शहीद किसानों को आज 6जून 20 को 3सरी बर्षी पर उनके सम्मान में अखिल भारतीय किसान महासभा पटना जिला के नेतागण शोक दिवस मनाया। पुष्प सुमन अर्पित कर शोकश्रद्धान्जली दी। इस अवसर पर जिला सचिव कृपा नारायण सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार जिन 14खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढाने की घोषणा की है, उनमें 12फसलों के मूल्य में अब तक की सबसे कम बढोतरी है। अर्थात मंहगाई के कारण बढती लागत के हिसाब से यह मूल्य बृद्धि नहीं, बल्कि फसलों की लागत के वास्तविक मूल्य में कटौती है। इसलिए किसानों को ठगने का सिलसिला बंद करे सरकार और स्वाभिमान आयोग की सिफारिश के अनुसार c2+कुल लागत का डेढ़ गुणा समर्थन मूल्य किसानों को दे।

इस माँग को किसान लम्बे समय से उठा रहे हैं और सरकार भी चुनाव के समय वादा की थी। उन्होंने आगे कहा कि इस वर्ष सरकार ने धान की औसत लागत 1245रू प्रति क्विंटल लगाई है, जबकि पिछले साल ही औसत लागत 1619रू प्रति क्विंटल दिखाई गई थी। पंजाब का कृषि मंत्रालय पिछले साल धान की औसत लागत 2740रू प्रति क्विंटल बताया था। केरल सरकार 2690रू और छत्तीसगढ़ सरकार 2500रू प्रति क्विंटल धान खरीद रही है, तब बिहार में क्यों नहीं? अब एक साल बाद जबकि फसलों का लागत मूल्य बढा है, तब मोदी जी 1668रू प्रति क्विंटल मूल्य देने की घोषणा कर रहे हैं---आखिर क्यों?यह किसानों के साथ सीधा सीधी धोखाधड़ी और नाइंसाफ़ी है।

कार्यक्रम की समाप्ति पर ब्लॉक में जाकर प्रधानमंत्री के नाम बीडियो को माँग पत्र सौंपा गया, जिसमें माँग किया गया कि--- 1. स्वामिनाथन आयोग की सिफारिश के अनुसार C2+कुल लागत का डेढ़ गुणा समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदा जाय। 2. लाकडाउन की मार झेल रहे किसानों को बिहार सरकार प्रति क्विंटल 500रू बोनस देने की गारंटी करे। कृपा नारायण सिंह पटना जिला सचिव भावभीनी श्रद्धांजलि व मांग 6 जून 2016 को मंदसौर ( म प्र ) भाजपा सरकार द्वारा पुलिस गोली कांड में शहीद छह किसानों को भावभीनी श्रद्धांजलि ! डॉ स्वामीनाथन आयोग के रिपोर्ट को पूर्णतः लागू करें ! किसानों को पूर्णतः कर्ज मुक्त करो ! फसलों के लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य के साथ सरकारी खरीद की गारंटी करो!

उमेश सिंह ,सदस्य ,राष्ट्रीय कार्यकारणी ,अखिल भारतीय किसान महासभा व सह सचिव ,बिहार मंदसौर में आन्दोलनरत शहीद किसानों की तीसरी बर्षी पर उनके सम्मान में अखिल भारतीय किसान महासभा पटना जिला के पांच प्रखंड में श्रद्धांजलि दी गई। 1.नौबतपुर कार्यालय में जिला सचिव कृपा नारायण सिंह के नेतृत्व में। 2.बीबीपुर (फतुहा)-बिरेन्द्र यादव के नेतृत्व में। 3.पटना-उमेश सिंह के नेतृत्व में। 4.बिहटा--राजेश गुप्ता के नेतृत्व में। 5.पुनपुन--मुन्ना चौहान के नेतृत्व में। ब्लौक में प्रधानमंत्री के नाम बीडियो को माँग पत्र भी दिया गया। मंदसौर मध्य प्रदेश के आंदोलनरत शहीद किसानों को आज 9 जून 2020 को तीसरी बरसी पर उनके सम्मान में अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा पूर्णिया जिला के नेतागण शुभ दिवस मनाया पुष्प अर्पित कर शोक श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर जिला सचिव कॉमरेड अविनाश पासवान ने कहा कि केंद्र सरकार झील 14 खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने की घोषणा की है उनमें 12 फसलों के मूल्य में अब तक की सबसे कम बढ़ोतरी है। अर्थात महंगाई के कारण बढ़ती लागत के हिसाब से यह मूल्य वृद्धि नहीं, बल्कि फसलों की लागत के वास्तविक मूल्य में कटौती है। इसलिए किसानों को ठगने का सिलसिला बंद करे सरकार और स्वामीनाथन कमीशन की सिफारिश के अनुसार सी प्लस टू प्लस 50% कुल लागत का डेढ़ गुना समर्थन में किसानों को दें। इस मांग को किसान लंबे समय से उठा रहे हैं और सरकार की चुनाव के समय वादा की थी।

उन्होंने आगे कहा कि इस वर्ष सरकार ने धान की औसत लागत 1245 रुपया प्रति कुंटल लगाई है जबकि पिछले साल ही औसत लागत 16 से ₹19 प्रति कुंटल दिखाई गई थी। पंजाब का कृषि मंत्रालय पिछले साल धान की औसत लागत 2740 रुपया प्रति कुंटल बताया था। केरल सरकार 2690 रुपैया और छत्तीसगढ़ सरकार ₹25 प्रति क्विंटल धान खरीद रही है, तब बिहार में क्यों नहीं अब 1 साल बाद जबकि फसलों का लागत मूल्य बढ़ा है तब मोदी जी 1668 रुपया प्रति कुंटल मोड देने की घोषणा कर रहे हैं आखिर क्यों यह किसानों के साथ सीधा सीधी धोखाधड़ी और नाइंसाफी है।

प्राकृतिक विपदा से बर्बाद फसलों और लोग डॉन के कारण बिहार के सीमांचल में अनाज , फल, दूध, मछली साग सब्जी और सीमांचल में मक्का का वृहत पैमाने पर तैयार फसल ओलावृष्टि आंधी तूफान से बर्बाद हो चुका है। जबकि 2000000 करोड़ रुपए प्रधानमंत्री का विशेष पैकेज मैं किसानों के लिए ना ही कर्जमाफी और ना ही फसल छाती मुआवजा तथा स्वास्थ्य सेवा के लिए एक पाई भी नहीं दिया है। बिहार के सीमांचल में किसान तबाह हो चुके हैं धरना के माध्यम से मक्का का समर्थन मूल्य 17 60 रुपए प्रति कुंटल साथ ही ₹500 प्रति कुंटल बोनस देकर सरकारी खरीद की मांग सरकार से किया है। और सीमांचल में मक्का आधारित कृषि उद्योग अभिलंब लगाया जाए।

आज के कार्यक्रम में शामिल कॉमरेड इस्लाम जी किसान महासभा अध्यक्ष पूर्णिया, कामरेड जोहा कली, कॉमरेड अनवर अली, कॉमरेड संजय सिंह चौहान इत्यादि। कॉमरेड अविनाश जिला सचिव, अखिल भारतीय किसान महासभा पूर्णिया।

आज 6 जून है आज ही के दिन 2017 में मध्य प्रदेश के मंदसौर में भाजपा सरकार की पुलिस ने 6 किसानों को सरेआम अपने गोलियों से भून डाला था किसान अपनी मांगों पर प्रदर्शन में उतरे हुए उनकी मांग थी कि हमें फसल का लाभकारी मूल्य मिलना चाहिए लाभकारी मूल्य का तात्पर्य लागत मूल्य का डेढ़ गुना यानी जो डॉ स्वामीनाथन आयोग ने सीटू प्लस के साथ घोषणा किया था सरकार इनकी मांगों को मानने के बजाय इन पर गोलियां चला दी थी वह वर्ष था 2017 का आज हम अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर राष्ट्रव्यापी स्तर पर उन शहीदों का शहादत दिवस मनाया है उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पुष्प अर्पित किया तथा पुनः उनकी मांगे जो प्रमुख थी दोहराया

मांग थी पहला फसल उत्पादन में लागत मूल्य का डेढ़ गुना दाम सीटू प्लस मिलना चाहिए तथा किसानों पर लदे तमाम सरकारी व महाजनी कर समाप्त होना चाहिए वर्तमान में केंद्र की भाजपा सरकार ने किसान विरोधी अध्यादेश और आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन की घोषणा किया है हम इसके खिलाफ आगामी 10 जून को अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर इस अध्यादेश के खिलाफ अध्यादेश के की प्रतियां जलाए आज का कार्यक्रम बिहार में हमारे संगठन के जरिए यानी अखिल भारतीय किसान महासभा के जरिए पटना जिला के 5 प्रखंडों में नालंदा जिला में पूर्णिया में जहानाबाद में भोजपुर में व अन्य जिला में संपन्न हुए

हम अखिल भारतीय किसान महासभा के राज्य सचिव के हैसियत से बिहार के किसानों से अपील किया है कि 10 जून को कार्यक्रम को प्रभावी रूप से सफल करेंगे।

रामाधार सिंह, राज्य सचिव

भारतीय किसान महासभा