ALL लेख आंदोलन रिपोर्ट विज्ञप्ति कविता/गीत संपादकीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
सहारनपुर में किसानों की समस्या पर बैठक
December 16, 2019 • Delhi • रिपोर्ट

सहारनपुर में किसानों की समस्या पर बैठक

प्रेम सिंह गहलावत

जिला सहारनपुर की तहसील बेहट के छेत्र जाटोँवाला में आस-पास के स्थानीय किसानों के साथ,अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रेम सिंह गहलावत के साथ बात चीत करके यहां के किसानों की दुर्दशा के बारे में जाना गया कि,यहां के इस पूरे इलाके में पीने लायक पानी तथा खेती की सिंचाई के लिए भी कोई नहर नही है दूसरा कोई सरकारी ट्यूबवैल तक भी नही है,और बिजली का बुरा हॉल पहली बात तो बिजली अति बहुत कम है,दूसरा बिजली के तमाम तार गाँठ गठीले हैं,जिससे हमेशा हादसे का डर भी बना रहता है,और बच्चों के  शिक्षा के लिए कोई उचित प्रबंध तक नही है,यहां ज्यादातर  छोटे किसान ही  हैं,किसानों का कहना था कि उनकी फसलों का उचित दाम भी नही मिल पाता,जैसे कि यहां गन्ने को ज्यादातर किसान क्रेशर पर बेचने पर मजबूर रहते है,जिसमे किसानों को 150/-रुपया प्रति किवंटल का भाव मिलता है,चीनी मिल इस छेत्र से काफी दूरी पर है,और वहां भी 300/-रुपये के आस-पास ही भाव मिलता है,जिसमे ढुलाई खर्च इतना पड़ जाता है की घाटा ही घाटा उठाना पड़ता है,यही हाल धान का भी रहता है,और इस इलाके में कोई किसान यूनियन भी कार्य नही कर रही है,मैंने देखा की इस पूरे इलाके में काफी गरीबी है, यहां ज्यादा आबादी मुस्लिम,व हरिजनों की है ध्यान रहे मुझे भी हरियाणा में भट्ठों में कार्य करने वाले कुछ दलित मजदूर लेकर गए थे कि उनके रिश्तेदारों के ऊपर सरकारी दमन हो रहा है,इस प्रकार मैने वहां जाकर उनको थोड़ी राहत दिलाने का कार्य किया,आज की इस मुलाकात में,मोहम्मद रिजवान,नासिर अहमद,देश राज,ईश्वर लाल,शौकीन,शतीस कुमार,मंजूर हस्सन, राजेन्द्र,चंदर पल,वैभव,सोमप्रकाश,सचिन टिकरोल, मोहमद रकीब,मोहमद आबिद,गुरवां,मोहमद इकराम,रोशन लाल,अमरेश,रूपेंद्र टिकरोल ,आदि किसान,मजदूर थे।